राजौरी, जम्मू में हिन्दुओं पर आतंकी हमला, आधार कार्ड देखकर गोली मारी: जीनोसाइड को नकारने की प्रवृत्ति कब तक चलेगी?

सोनाली मिश्रा

कश्मीर में जहां अभी तक कश्मीरी पंडितों का मारा जाना जारी है, और घाटी में पोस्टिंग को लेकर कश्मीरी पंडित अभी तक आन्दोलन पर बैठे हुए हैं, तो वहीं अब जम्मू में भी हिन्दुओं पर हमले शुरू हो गए हैं।

और जम्मू में राजौरी में हमला इसलिए और खतरनाक है क्योंकि उस गाँव को हिन्दुओं के लिए सुरक्षित माना जाता है। कश्मीर से हिन्दुओं को मारकर निकालने के बाद कहीं न कहीं अब आतंकियों की नजर जम्मू पर है और इस बात को लेकर हिन्दू कार्यकर्ता कई वर्षों से बात करते हुए आ रहे थे।

पुलिस के अनुसार 2 आतंकवादी आए और उन्होंने अपर डांगरी क्षेत्र में ३ घरों को निशाना बनाया। अब तक चार हिन्दुओं के मारे जाने का समाचार है। पुलिस द्वारा सर्च ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं। उस पूरे क्षेत्र में पुलिस, सीआरपीएफ और सेना की टुकड़ियों को लगा दिया गया है और जल्द से जल्द उन दोनों ही आतंकियों का खात्मा कर दिया जाएगा

Also Read:  राष्ट्रीय बालिका दिवस: अवसर है अपनी स्त्रियों की उपलब्धियों को स्मरण करने का, एवं कृत्रिम हीनता के विमर्श को समझने का

Rajouri (J&K) firing incident | As per info, 2 terrorists came & targeted 3 houses in upper Dangri area. 4 casualties reported. Search operation on. Police, CRPF, Army troops have cordoned off the area. We’ll try to neutralize the 2 terrorists soon: Mukesh Singh, ADGP Jammu Zone pic.twitter.com/rKjozIWKKn

— ANI (@ANI) January 1, 2023

घटना के वीडियो दिल दहला देने वाले हैं। और यह इसलिए भी दिल दहला देने वाले हैं क्योंकि यह हत्याएं राम मंदिर के पास हुई हैं। जम्मू में हुई हैं, जिसे अब तक हिन्दुओं के लिए सुरक्षित माना जाता रहा है और वहां पर हिन्दुओं को उनके घर में जाकर मारा गया है। यह बहुत ही खतरनाक है। यह बहुत ही डराने वाला है।

Also Read:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी डॉक्यूमेंट्री पर अलग राय रखने पर कांग्रेसी नेता अनिल एंटोनी को पार्टी छोड़ने पर होना पड़ा बाध्य!
Dhangri is not in Kashmir.

It’s a Hindu-dominated village located in Rajauri tehsil of Rajouri district in Jammu division.

Armed terrorists entering homes and firing at point-blank range in a village considered relatively safe because of its demographics is very very alarming.

— Sonam Mahajan (@AsYouNotWish) January 1, 2023

जानकारी के अनुसार आतंकियों ने राजौरी गाँव के ऊपरी डांगरी गाँव के उन घरों में हमला किया है, जो पचास पचास मीटर के दायरे में स्थित हैं। पुलिस के अनुसार लगभग 7।15 पर शाम को हायर सेकंड्री स्कूल डांगरी के पास गोली बारी की गयी। इस गोलीबारी में एक महिला एवं बच्चे समेत हिन्दू परिवार के ७ लोग घायल हो गए थे, जिसमें सतीश सहित ४ लोगों की मृत्यु ही गयी और शेष लोगों का इलाज जीएमसी राजौरी में चल रहा है।

Also Read:  चेतना के महानायक महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि पर स्मरण: चेतना महाराणा प्रताप के साथ है तो दरबारी इतिहास अकबर के!

जो तस्वीरें आ रही हैं, वह दुर्भाग्य और पीड़ा की कहानी बताने के लिए पर्याप्त हैं। घरों के भीतर खून बिखरा है और तस्वीरों में अव्यक्त सन्नाटा पसरा है।

Sachnews Jammu Kashmir :
S. Preetpal Singh Rajouri
Poonch :

*UPDATE*

Another injured civilian succumbs in Rajouri firing Incident taking toll to 4. Condition of other injured is also stated to be very critical.

More details emerging … pic.twitter.com/MaSrFSqobq

— dalbir singh chib (@dalbirsingh74) January 1, 2023

जम्मू में यह लक्षित हत्या है और जिसे कल संदिग्ध आतंकी हमला बताकर हमले को सामान्य बताने का प्रयास किया जा रहा था, अमर उजाला के अनुसार वह आतंकी हमला ही है और टीआरएफ ने उसकी जिम्मेदारी ली है।

वहीं इसमें प्रशासन की भूमिका पर भी प्रश्न उठ रहे हैं। क्योंकि तमाम प्रकार के खतरों के बावजूद भी जिला प्रशासन ने विलेज डिफेन्स ग्रुप अर्थात वीडीजी के सदस्यों के हथियार वापस ले लिए थे और खतरे की आशंका पहले से थी।

फिर ऐसे में प्रश्न उठता ही है कि प्रशासन द्वारा विलेज डिफेन्स ग्रुप के हथियार क्यों वापस लिए गए? क्या प्रशासन ने इन चिंताओं पर ध्यान नहीं दिया जो हिन्दू लगातार उठा रहे थे? इस घटना के विरोध में सोमवार को राजौरी बंद का आह्वान किया गया है।

हमले में मारे गए सतीश कुमार के भाई संजय कुमार ने बताया कि दो नकाबपोश आतंकियों ने मुंह पर लाल रंग का मास्क पहन रखा था। सबसे पहले उन्होंने आधार कार्ड देखे। पहचान होने के बाद उन्होंने पहले एक घर को निशाना बनाया और फिर आसपास के दो और घरों की तरफ अंधाधुंध गोलीबारी करते हुए भाग गए।

ऐसा भी नहीं है कि राजौरी में यह हाल फ़िलहाल की पहली घटना है। कुछ ही दिन पहले अर्थात १५ दिसंबर को ही सेना के अस्पताल के पास आतंकी हमला हुआ था। इसमें २ लोगों की मृत्यु हो गयी थी। इसके विषय में कहा गया था कि यह फायरिंग सेना के जवान ने की थी, तो इस पर लोगों ने हंगामा किया था, मगर बाद में सेना ने यह स्पष्ट किया था कि यह आतंकी हमला है। राजौरी के एसपी मोहम्मद असलम चौधरी के अन्सुअर मरने वाले लोग सेना में कुली का काम कर रहे थे। तो सुबह ६।१५ पर वे सैन्य शिविर के अल्फा गेट के पास आ रहे थे, तभी उन्हें गोली का निशाना बनाया गया। उन दोनों के नाम हैं कमल किशोर एवं सुरिंदर कुमार!

वर्ष के पहले दिन तीन आतंकी घटनाएं हुईं:

ऐसा नहीं है कि १ जनवरी को राजौरी में ही हिन्दुओं को मारने के साथ वर्ष का आरम्भ हुआ, कल ही श्रीनगर में ग्रेनेड हमला हुआ। आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के बंकर पर ग्रेनेड फेंका था जो सड़क किनारे गिरा, जिससे एक नागरिक घायल हो गया। और उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पुलवामा में राइफल छीनी गयी।

Firing in Rajouri, Grenade in Srinagar, Blast Sound in Handwara, Rifle Snaching in Pulwama.🤔🤔

Aakhir ye chal kya raha hai??

— 𝐌𝐔𝐒𝐒𝐄 𝐆𝐀𝐑𝐄𝐄𝐁 (@MusseGareeb_) January 1, 2023

आतंकी घटनाएं बढ़ रही हैं, परन्तु कश्मीरी पंडितों को कश्मीर में ही नौकरी के लिए बाध्य क्यों किया जा रहा है?

दिनों दिन आतंकी घटनाएं बढ़ रही हैं और हिन्दुओं को निशाना बनाकर मारा जा रहा है। परन्तु यह भी सत्य है कि कश्मीरी हिन्दू पीएम पॅकेज के कर्मचारी केवल अपने जीवन की रक्षा की मांग को लेकर सड़क पर हैं। वह इस मांग को लेकर सड़क पर हैं कि उन्हें कश्मीर में नहीं भेजकर जम्मू में नौकरी दी जाए।

३१ दिसंबर को ही एक पीएम पैकेज कर्मचारी की मृत्यु लीवर सिरोसिस से हो गयी थी और उनके पास इसलिए पैसे नहीं थे क्योंकि उनका वेतन पिछले कई महीनों से रोका गया है

As the world celebrates new year. Our Kashmiri Hindu PM package employees are on roads for last 230 days without salaries, demanding right to life. Today, a PM package employee Chand Jee died because he was suffering from liver cirrhosis and he didn’t have money to buy 1/n

— Exiled Human🇮🇳 (@ExiledHuman1) December 31, 2022

हिन्दू अपने प्राणों की रक्षा के लिए सड़क पर है, परन्तु उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। वह न्याय ही तो मांग रहे हैं और यह देखते हुए कि कश्मीर में आए दिन हमला हो रहा है, क्या उन्हें अपने जीवन की रक्षा का अधिकार नहीं है?

इसी विषय को लेकर धरने और प्रदर्शन हो रहे हैं। ग्लोबल कश्मीरी पंडित डायस्पोरा ने भी इस बात पर अप्रसन्नता व्यक्त की है कि कैसे उन अंतर्राष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन हो रहा है जो जीनोसाइड पीड़ितों के लिए बनाए गए हैं और यह भी कहा कि संविधान की धारा 21 यह सभी को अधिकार देती है कि कैसे एक सम्मानजनक जीवन जिया जाए!

GKPD expresses solidarity with the employees deployed to Kashmir under PM package scheme.
Expresses anguish at continued violation of international laws governing victims of Genocide & reiterates that Article 21 of the Indian constitution guarantees the right to a dignified life. pic.twitter.com/6nwI42wa6L

— Global KP Diaspora (GKPD) (@kp_global) December 24, 2022

जहाँ एक ओर बार-बार हिन्दुओं को निशाना बनाकर आतंकी घटनाएँ हो रही हैं और हिन्दुओं को निशाना बनाकर हमले की धमकियां दी जा रही हैं, तो ऐसे में कश्मीरी हिन्दुओं की आवाज क्यों नहीं सुनी जा रही है?

Lashkara-e-Taiba ,terrorist outfit operating in kashmir valley has given open threat to kill kashmiri hindus .TRF has vowedto continue their attack on kashmiri hindus relased the lists of hindus who are provided employment under PM scheme #Homeland4KPs pic.twitter.com/gair4Y5H24

— padmalatha ramdas (@padmalatharamd1) December 28, 2022

यह विडंबना ही है कि एक ओर सड़क पर कश्मीरी पंडित हैं, जो अपने लिए होमलैंड की मांग कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर एक अजीब जिद्द है कि उन्हें उन्हीं लोगों के बीच फेंके जाए, जो उनके खून के प्यासे हैं। पिछले दिनों एलजी मनोज सिन्हा ने भी हिन्दुओं के प्रति असंवेदनशीलता का परिचय देते हुए कहा था कि जो काम पर नहीं आएगा, उनका वेतन नहीं दिया जाएगा! ऐसे में प्रश्न उठता ही है कि आखिर हिन्दू क्या करे?

एक ओर प्रशासन है जो बार-बार फिर से जीनोसाइड के डिनायल पर अटका है अर्थात हिन्दुओं के विध्वंस को नकारने का आधिकारिक रूप से प्रयास कर रहा है तो वहीं जिहादी घटनाएं हैं, जो उस जीनोसाइड के खतरे को व्यक्त कर रही हैं। यह जीनोसाइड डिनायल की प्रवृत्ति ऐसा नहीं है कि कश्मीरी हिन्दुओं के प्रति ही है। लव जिहाद को लेकर भी यही प्रवृत्ति काम कर रही है।

राजौरी में किया गया यह हमला भी इसी जारी जीनोसाइड की एक कड़ी है, एक घटना है! परन्तु दुर्भाग्य की बात यही है कि इस जारी जीनोसाइड पर बात करने के स्थान पर प्रशासन कहीं न कहीं कश्मीरी हिन्दुओं को जिहादियों का शिकार ही बनाने पर तुला है और उन्हें खुद ही कातिलों की मांद में भेज रहा है, जो उनके क़त्ल के लिए हर दिन धमकी ही नहीं भेज रहे हैं, बल्कि उसे क्रियान्वित भी कर रहे हैं।

5 दिसंबर को ही कश्मीरी हिन्दुओं को धमकी दी गयी थी कि उनके पास उन सभी कर्मचारियों की सूची है जो कश्मीरी हिन्दू पैकेज के अंतर्गत नौकरी कर रहे हैं। इस पर कश्मीरी हिन्दुओं ने यह भी आपत्ति व्यक्त की थी कि आखिर इतने संवेदनशील डेटा को आतंकियों तक किसने पहुंचाया?

Lashkar-e-Taiba affiliate TRF in an open letter issued a threat to Hindus and vowed to continue with their targeted attacks on the minority population. In a statement, the outfit said that the Hindus are taking over the jobs and lands in Kashmir pic.twitter.com/m1b3x7fPl4

— TIMES NOW (@TimesNow) December 4, 2022

यह गोपनीय जानकारी आतंकियों तक कैसे पहुँची? यह भी एक प्रश्न है, परन्तु इसका उत्तर अभी तक नहीं मिला है! प्रश्न यह भी उठता ही है कि जो सूचना प्रशासन के पास गोपनीय रहनी चाहिए थी, वह आतंकियों के पास है और आतंकियों को बौद्धिक समर्थन भी तब प्राप्त हो जाता है जब कश्मीरी हिन्दुओं की पीड़ा को दर्शाने वाली फिल्म को सरकारी आयोजन में ही प्रोपोगैंडा फिल्म ठहरा दिया जाता है।

इस मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने भी जांच की मांग की थी कि कैसे यह जानकारी लीक हुई? एलजी मनोज सिन्हा इस बात को बहुत सहजता से कह जाते हैं कि जो लोग काम पर नहीं लौटेंगे उन्हें वेतन नहीं मिलेगा, परन्तु वह इस बात को नहीं देख रहे हैं कि कैसे गोपनीय दस्तावेज भी आतंकी संगठन के पास हैं और वह लोग बेसब्री से कश्मीरी हिन्दुओं के घाटी में वापस आने की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

कब तक हिन्दुओं के जीनोसाइड के प्रति नकारने की प्रवृत्ति प्रशासन की ओर से चलती रहेगी, हर आतंकी घटना इस इस डीनाइल पर अट्टाहास करती है, और हर घटना से हिन्दुओं की पीड़ा और बढ़ जाती है, परन्तु दुर्भाग्य यही है कि इस पीड़ा की जड़ को अनदेखा किया जा रहा है!

यह लेख लिखे जाने तक एक बार फिर से राजौरी में हमला हुआ है, जिस घर में देर रात आतंकी हमला हुआ था, उसीमें बड़ा धमाका हुआ है

आईडी विस्फोट में एक बच्ची की मृत्यु हो गयी है

Breaking News: 2nd attack by Jihadist in Jammu and Kashmir’s Rajouri in less than 12 hours !!

The IED blast kills one child. Five people including a child critically injured.

Injured has been shifted to the hospital.
+ pic.twitter.com/MCZ3fA8UQu

— Ashwini Shrivastava (@AshwiniSahaya) January 2, 2023

क्या अभी भी डिनाइल की प्रवृत्ति जारी रहेगी या फिर समस्या पर बात होगी या फिर एक बार फिर से यही एजेंडा दोहराया जाएगा कि “कश्मीर में केवल हिन्दू ही नहीं मुसलमान भी मरे हैं!” यहाँ पर प्रश्न यह नहीं है कि कौन मरा है, प्रश्न यह है कि मारा किसने है और किस मानसिकता ने मारा है? वह कट्टरवादी मानसिकता किसके विरोध में है, प्रश्न यही है! और जब तक इसका उत्तर नहीं खोजा जाएगा तब तक ऐसी घटनाओं पर क्षोभ एवं क्रोध बढ़ता ही रहेगा

(यह स्टोरी हिंदू पोस्ट की है और यहाँ साभार पुनर्प्रकाशित की जा रही है.)

यह भी पढ़ें

परधनमतर-नरदर-मद-पर-बन-डकयमटर-पर-अलग-रय-रखन-पर-कगरस-नत-अनल-एटन-क-परट-छडन-पर-हन-पड-बधय!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी डॉक्यूमेंट्री पर अलग राय रखने पर...

0
सोनाली मिश्रा कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा में नफरत के बाजार में मोहब्बत के फूल खिलाने की बात करते हुए दिखाई...
रषटरय-बलक-दवस:-अवसर-ह-अपन-सतरय-क-उपलबधय-क-समरण-करन-क,-एव-कतरम-हनत-क-वमरश-क-समझन-क

राष्ट्रीय बालिका दिवस: अवसर है अपनी स्त्रियों की उपलब्धियों को स्मरण...

0
सोनाली मिश्रा आज के दिन भारत में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। इस दिन को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत की...

अभिमत

परधनमतर-नरदर-मद-पर-बन-डकयमटर-पर-अलग-रय-रखन-पर-कगरस-नत-अनल-एटन-क-परट-छडन-पर-हन-पड-बधय!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी डॉक्यूमेंट्री पर अलग राय रखने पर...

0
सोनाली मिश्रा कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा में नफरत के बाजार में मोहब्बत के फूल खिलाने की बात करते हुए दिखाई...
रषटरय-बलक-दवस:-अवसर-ह-अपन-सतरय-क-उपलबधय-क-समरण-करन-क,-एव-कतरम-हनत-क-वमरश-क-समझन-क

राष्ट्रीय बालिका दिवस: अवसर है अपनी स्त्रियों की उपलब्धियों को स्मरण...

0
सोनाली मिश्रा आज के दिन भारत में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। इस दिन को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत की...

लोग पढ़ रहे हैं

The greatness of our MOTHERLAND

0
Swami Vivekananda If there is any land on this earth that can lay claim to be the blessed Punyabhumi (holy land), to be the land...

New Ghatshila SDO Satyaveer Rajak takes charge

0
Jamshedpur: Satyaveer Rajak today took charge as SDO of Ghatshila sub-division in East Singhbhum district. He took charge from outgoing Sub-Divisional Officer Mr. Amar...

Feel like reacting? Express your views here!

यह भी पढ़ें

आपकी राय

अन्य समाचार व अभिमत

हमारा न्यूजलेटर सब्सक्राइब करें और अद्यतन समाचारों तथा विश्लेषण से अवगत रहें!

Town Post

FREE
VIEW