सरकार ने लक्ष्य तय कर रखे हैं और हम उसी के अनुरूप कार्य पूरे कर रहे हैं: सीएम हेमंत सोरेन

रांची: झारखंड में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर राजधानी रांची में एक समारोह को संबोधित करते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि 3 वर्ष का कार्यकाल पूरे करने से पहले उनकी सरकार ने कई उतार-चढ़ाव देखे. लेकिन लक्ष्य पर ध्यान रखते हुए कार्य करना जारी रखा.

उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से हमारा सामना हुआ. इस दौरान देश- दुनिया की तमाम व्यवस्थाएं ठप्प सी हो गई. झारखंड भी इससे अछूता नहीं रहा. लेकिन, हमारी सरकार ने इसे एक चुनौती के रूप में स्वीकार किया. हमने हार नहीं मानी और इस आपदा को अवसर के रूप में लिया. इसी का नतीजा रहा कि आप सभी के सहयोग से इस महामारी से निपटने में कामयाब हुए. इसके उपरांत विकास की गति को तेज करने की संकल्पना के साथ कई योजनाओं को शुरू किया, जिसका लाभ आज राज्य के कोने -कोने में रहने वाले लोगों को मिल रहा है. मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आज वर्तमान राज्य सरकार के 3 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में झारखंड मंत्रालय सभागार में आयोजित मुख्य समारोह को संबोधित करते हुए ये बातें कही. उन्होंने कहा कि सरकार जिस सोच और उद्देश्य के साथ काम कर रही है, उससे यहां के लोग भी आगे बढ़ेंगे और राज्य भी आगे बढ़ेगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे राज्य में काफी क्षमताएं हैं. यहां खनिज समेत वैसे सभी संसाधन मौजूद हैं , जो राज्य को विकास के

मार्ग पर आगे ले जा सकते हैं. लेकिन, पिछले 20 वर्षों में किन्ही न किन्ही वजहों से राज्य में विकास का माहौल नहीं बन सका. हमारी सरकार अब विकास को नई दिशा देने के काम में जुट गई है . इसके लिए वातावरण तैयार किया जा रहा है. मुझे पूरा विश्वास है कि यहां के संसाधनों का अगर सदुपयोग सही तरीके से हुआ तो झारखंड देश के अग्रणी राज्यों में खड़ा होगा.

Also Read:  लापता महिला का शव सरायकेला में लखना सिंह घाटी के पास पेड़ से लटका मिला, हत्या की आशंका

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार समेत सभी क्षेत्रों में विकास के कार्य हो रहे हैं. किसानों, मजदूरों, सरकारी कर्मियों, बुजुर्गों, महिलाओं, नौजवानों सहित हर वर्ग और तबके के लिए योजनाएं चला रहे हैं. हमारी सरकार ने लक्ष्य तय कर रखा है और उसी के अनुरूप कार्यों को अंजाम दिया जा रहा है.

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि आज पूरे राज्य के लिए हर्ष उल्लास और उत्साह का दिन है. सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर कई योजनाओं और पोर्टल का शुभारंभ हुआ है. इस अवसर पर मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना, सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना और प्री- मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के लाभुकों के बीच डीबीटी के माध्यम से लगभग 951 करोड़ रुपए हस्तांतरित किए गए हैं. हमारी सरकार इसी मकसद के साथ कार्य कर रही है कि कल्याणकारी योजनाओं का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाया जा सके.

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड अलग राज्य बनने के बाद पिछले 20 वर्षों में किसी भी सरकार को ऐसी चुनौतियों का सामना नहीं करना पड़ा, जैसा की हमारी सरकार के गठन के महज कुछ ही महीनों के बाद कोरोना जैसी महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया. 2 वर्षों तक कोरोना से हम जंग लड़ते रहे. इस दौरान हमारी सरकार ने बेहतर प्रबंधन के जरिए न सिर्फ जीविका को बचाया, बल्कि जीविकोपार्जन के भी साधन लोगों को उपलब्ध कराए. आज विकास को तेज करने का कार्य पूरी क्षमता और ताकत के साथ सरकार कर रही है. लेकिन, यह शुरुआत है. अभी हमें आगे लम्बा सफर तय करना है . झारखंड को विकसित और समृद्ध राज्य बनाना है.

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गुरुवार को राज्य में यूपीए के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के तीन साल पूरे होने पर तीन अलग-अलग योजनाओं के तहत 37 लाख से अधिक लाभार्थियों के बैंक खातों में लगभग 950 करोड़ रुपये हस्तांतरित किए।

Also Read:  लापता महिला का शव सरायकेला में लखना सिंह घाटी के पास पेड़ से लटका मिला, हत्या की आशंका

उन्होंने रांची के प्रोजेक्ट बिल्डिंग में एक राज्य स्तरीय कार्यक्रम के दौरान खिलाड़ियों के लिए एक पोर्टल और विकासात्मक योजनाओं पर नज़र रखने के लिए ‘जौहर परियोजना’ पोर्टल का भी अनावरण किया।

“पिछले तीन साल चुनौतीपूर्ण रहे हैं, क्योंकि राज्य ने COVID-19 महामारी का सामना किया जहां अर्थव्यवस्था और आजीविका गतिविधियां ठप हो गईं। मुझे नहीं लगता कि पिछले 20 सालों में राज्य की किसी भी सरकार को हम जैसी चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। लेकिन हम लोगों के सहयोग से हर आपदा को अवसर में बदलने में सफल रहे।’

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने तीन साल के शासन के दौरान सही नीतियों के साथ राज्य को विकसित राज्यों में रखने का भरोसा जताया।

झारखंड में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर राजधानी रांची में गुरुवार को एक समारोह को संबोधित करते हुए हेमंत सोरेन ने कहा, ‘पिछले तीन सालों में बनाई गई नीतियों के साथ और सही इरादों के साथ जिसमें हम हैं काम करते-करते मुझे विश्वास है कि प्रदेश का विकास होगा और हम विकसित लोगों में गिने जाएंगे। यह एक फल देने वाले पेड़ को लगाने जैसा है और आने वाले वर्षों में फलों का लाभ उठाने का समय आ गया है।”

सोरेन ने राज्य की प्रगति के बारे में नहीं सोचने के लिए झारखंड की पिछली सरकारों पर विलाप करने का अवसर लिया।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश में सभी वर्ग के लोगों के लिए दिन-रात काम कर रही है।

सोरेन ने कहा कि सूखा राहत योजना, प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति और सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत लाखों लाभार्थियों को सीधे लाभ हस्तांतरण के माध्यम से वित्तीय सहायता भेजी गई।

Also Read:  लापता महिला का शव सरायकेला में लखना सिंह घाटी के पास पेड़ से लटका मिला, हत्या की आशंका

झामुमो के नेतृत्व वाली सरकार ने 29 अक्टूबर को राज्य के 260 ब्लॉकों में से 226 को सूखा प्रभावित घोषित किया था और मुख्यमंत्री सूखा राहत योजना के तहत प्रत्येक प्रभावित किसान परिवार को 3,500 रुपये की नकद राहत देने का फैसला किया था।

गुरुवार को करीब 6.64 लाख किसानों को सूखा राहत के रूप में 232.36 लाख रुपए दिए गए। “राज्य ने कई मौकों पर सूखे का सामना किया। लेकिन, यह पहली बार है जब उन्हें समय पर वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है, ”सोरेन ने कहा।

प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत कक्षा-1 से कक्षा-10 के बीच पढ़ने वाले 25 लाख एससी/एसटी और ओबीसी छात्रों के खातों में लगभग 500 करोड़ रुपये स्थानांतरित किए गए। इसी तरह, सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना के तहत कुल 5,52,685 लाभार्थियों को लगभग 219.29 करोड़ रुपये मिले।

सोरेन ने कहा कि व्यवस्था में बदलाव कर जरूरतमंदों को अधिकार दिलाने का काम किया। “सरकार ने सभी क्षेत्रों में काम किया चाहे वह सामाजिक सुरक्षा, रोजगार, किसान, शिक्षा, बुनियादी ढांचे या अन्य क्षेत्रों का मामला हो। गरीबों के बच्चे अब हमारी सरकार में अधिकारी बन रहे हैं और लोगों को पेंशन मिल रही है.

सीएम ने कहा कि पिछले तीन साल में की गई तैयारियों का परिणाम आने वाला है. उन्होंने कहा, “हम शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, स्वरोजगार और अन्य क्षेत्रों में बेहतर परिणामों की उम्मीद कर सकते हैं।”

कार्यक्रम में कांग्रेस के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम और राजद के श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता भी मौजूद थे.

मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि उनकी सरकार आदिवासियों, अल्पसंख्यकों, वंचितों और गरीबों की आवाज और अधिकारों के लिए लड़ाई जारी रखेगी और कहा कि किसानों, मजदूरों सहित हर वर्ग और वर्ग के लिए योजनाओं के साथ शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार सहित सभी क्षेत्रों में विकास कार्य किए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें

लापता महिला का शव सरायकेला में लखना सिंह घाटी के पास...

सरायकेला: सरायकेला-खरसवां जिले की लखना सिंह घाटी के पास जंगल में लटका हुआ महिला का शव मिलने से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैली गई,...
Gopal Maidan Tusu Mela

जमशेदपुर के गोपाल मैदान में भव्य टुसू मेला आयोजित, हजारों लोगों...

सांसद बिद्युत बरन महतो व आस्तिक महतो ने की टुसू मेले की अगुआई जमशेदपुर : झारखंडवासी एकता मंच की ओर से शनिवार को बिष्टुपुर के...

अभिमत

परधनमतर-नरदर-मद-पर-बन-डकयमटर-पर-अलग-रय-रखन-पर-कगरस-नत-अनल-एटन-क-परट-छडन-पर-हन-पड-बधय!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी डॉक्यूमेंट्री पर अलग राय रखने पर...

0
सोनाली मिश्रा कांग्रेस नेता राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा में नफरत के बाजार में मोहब्बत के फूल खिलाने की बात करते हुए दिखाई...
रषटरय-बलक-दवस:-अवसर-ह-अपन-सतरय-क-उपलबधय-क-समरण-करन-क,-एव-कतरम-हनत-क-वमरश-क-समझन-क

राष्ट्रीय बालिका दिवस: अवसर है अपनी स्त्रियों की उपलब्धियों को स्मरण...

0
सोनाली मिश्रा आज के दिन भारत में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। इस दिन को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि इस दिन भारत की...

लोग पढ़ रहे हैं

The greatness of our MOTHERLAND

0
Swami Vivekananda If there is any land on this earth that can lay claim to be the blessed Punyabhumi (holy land), to be the land...

Feel like reacting? Express your views here!

यह भी पढ़ें

आपकी राय

अन्य समाचार व अभिमत

हमारा न्यूजलेटर सब्सक्राइब करें और अद्यतन समाचारों तथा विश्लेषण से अवगत रहें!

Town Post

FREE
VIEW