जमशेदपुर ने जमकर होली मनायी, हुल्लड़ और हुड़दंग के साथ डीजे भी

जमशेदपुर : जमशेदपुर में शुक्रवार के साथ-साथ शनिवार को भी होली का त्योहार मनाया गया। पूरे स्टाइल में और पूरे आनंद और रंग के साथ। कोरोना से डरी सरकारों और अभिभावकों के निर्देशों को काफी हद तक अनदेखा करते हुए।

भद्रा के समय के बारे में पंडितों के बीच मतभेदों और स्पष्टता की कमी की वजह से लोगों को होली मनाने के लिए दो दिन मिल गये।

इस साल की होली खास इसलिए रही, क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों के दौरान शहर को कोरोना से राहत मिली है।

शुक्रवार को बड़ी संख्या में लोगों ने पारंपरिक तरीके से होली मनाई। शनिवार को भी उत्सव जारी रहा क्योंकि बाकी लोगों ने शनिवार को होली मनायी।

Also Read:  उपायुक्त के नेतृत्व में मानगो में सड़क किनारे से अतिक्रमण हटाया गया

महिलाओं और लड़कियों में भी खासा उत्साह देखने को मिला।

सुबह महिलाओं का जत्था घरों से बाहर निकल आया और एक दूसरे पर अबीर और गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएँ दीं.

इस साल होली को यादगार बनाने के लिए महिलाओं ने खास इंतजाम किए थे।

बच्चे भी रंग बिखेरते दिखे। होली के जश्न और उल्लास में पूरा शहर डूबा हुआ है।

ऐसा नहीं है कि इस साल होली बिना किसी हुड़दंग और मस्ती के गुजरी। होली में कुछ हद तक नियमों का उल्लंघन करने की परंपरा रही है।

चौक चौराहों पर ढोल-झाल-मंजीरे के साथ जत्थे भी नजर आए। और आधुनिकता के पुट के साथ होली मनाने का तरीका भी तेजी से बदल रहा है।

Also Read:  बागबेड़ा में चोरी करने घर में घुसा व्यक्ति पत्थरबाजी पर उतरा, गिरफ्तार

कई मामलों में अब ढोल-झाल-मंजीरे की जगह डीजे ने ले ली है।

हालांकि जमशेदपुर में होली हमेशा पारंपरिक तरीके से मनाई जाती रही है, लेकिन इन दिनों डीजे का भी इस्तेमाल किया जा रहा है और जो लोग ऐसा कर सकते हैं, उनके द्वारा होटलों में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

एक तरफ जहां ज्यादातर इलाकों में पारंपरिक होली मनाई जाती रही है, वहीं युवाओं के कई समूहों को पॉश होटलों और रेस्तरां में भी डीजे की धुन पर होली मनाते देखा गया।

जमशेदपुर के एक महंगे होटल में युवाओं ने डीजे की पर डांस कर होली मनाई। होली में डीजे का इस्तेमाल एक नया चलन है जो तेजी से जोर पकड़ रहा है।

Also Read:  स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने मानगो चौक सौंदर्यीकरण योजना का उद्घाटन किया

यह अच्छा है या बुरा? इस पर लोगों में मतभेद है।

ऐसे कई लोग हैं जो मानते हैं कि वैल्यू जजमेंट करना मुश्किल है कि उत्सव के तरीकों में यह बदलाव अच्छा है या बुरा।

होली हमेशा अपने साथ खुशियां लेकर आई है। और शहर के सभी हिस्सों में उत्सव का माहौल है। मुस्कुराहट उन सभी चेहरों पर हैं, जिन्हें पहचाना जा सकता है। उनपर भी, जिन्हें आप नहीं पहचान सकते।

जमशेदपुर में होली का आनंद।

Feel like reacting? Express your views here!

यह भी पढ़ें

आपकी राय

अन्य समाचार व अभिमत

हमारा न्यूजलेटर सब्सक्राइब करें और अद्यतन समाचारों तथा विश्लेषण से अवगत रहें!

Town Post

FREE
VIEW