बागबेड़ा जलापूर्ति योजना को लेकर एक बार फिर संघर्ष का ऐलान

जमशेदपुर: जमशेदपुर में बागबेड़ा जलापूर्ति योजना को लेकर एक बार फिर से बागबेड़ा के लोगों ने आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है।

गुरुवार को बागबेड़ा महानगर विकास समिति और संपूर्ण घाघीडीह विकास समिति के बैनर तले सैकड़ों ग्रामीण और बस्तीवासी पूर्वी सिंहभूम जिला मुख्यालय पहुंचे, जहां इन्होंने जिले के उपायुक्त को बागबेड़ा जलापूर्ति योजना को अविलंब पूरा करने और क्षेत्र के लोगों को पेयजल को लेकर हो रही समस्याओं से निजात दिलाने की मांग की।

साथ ही, उन्होंने चेतावनी दी कि अगर योजना के काम में ढिलाई बरती गई तो पुनः आंदोलन शुरू किया जाएगा।

समिति के अध्यक्ष भाजपा नेता सुबोध झा ने योजना में भारी अनियमितता का आरोप लगाते हुए दोषी पदाधिकारियों को चिन्हित कर दंडित करने की मांग उठाई।

Also Read:  टेल्को सबुज संघ पंडाल के निकट युवक की गोली मारकर हत्या, अपराधी फरार

उन्होंने बताया कि साजिश के तहत परियोजना को टाला जा रहा है जिससे लोगों को गौर परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने ग्रामीण जलापूर्ति योजना के बंद पड़े काम को अविलंब चालू करने एवं घटिया निर्माण की जांच कर दोषियों पर कार्रवाई करने, टाटा स्टील पर मौलिक सुविधा के अंतर्गत पेयजल उपलब्ध कराने अथवा जुगसलाई नगर परिषद के अंतर्गत बागबेड़ा, घाघीडीह, कीताडीह, गोविंदपुर को शामिल करने की मांग की।

उन्होंने साफ कर दिया है कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो समिति द्वारा झारखंड हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर किया जाएगा।

बागबेड़ा जलापूर्ति योजना को लेकर सुबोध झा की अगुवाई में 2005 से क्रमबद्ध एवं संपूर्ण घाघीडीह विकास समिति के संयुक्त तत्वावधान में अध्यक्ष छोट राय मुर्मू, कृष्णा चंद पात्रो, रितु सिंह, प्रभा हांसदा के नेतृत्व में कई बार धरना-प्रदर्शन, उपायुक्त कार्यालय का घेराव पेयजल एवं स्वच्छता विभाग का घेराव प्रदर्शन, भूख हड़ताल 6 बार विधानसभा का घेराव दो बार राजभवन का घेराव एवं एक बार जमशेदपुर से रांची तक पदयात्रा कर सैकड़ों लोगों के साथ विधानसभा का घेराव समिति के द्वारा किया जा चुका है।

Also Read:  मिल्खीराम बिल्डिंग के लाजवंती टेक्सटाइल्स में आग, लाखों का नुकसान

Feel like reacting? Express your views here!

यह भी पढ़ें

आपकी राय

अन्य समाचार व अभिमत

हमारा न्यूजलेटर सब्सक्राइब करें और अद्यतन समाचारों तथा विश्लेषण से अवगत रहें!

Town Post

FREE
VIEW